MENU X
Cityofjaipur.com पर आपका स्वागत है। आपका गाइड - जयपुर में घूमने, मौज-मस्ती करने, रहने, काम करने और निवेश करने के लिए।

ताज़ा समाचार

राजधानी के जौहरी बाजार स्थित एक जौहरी के बेनामी संपत्ति के मामले में आयकर विभाग ने छापा मारा है। बताया जा रहा है कि इस छापे में जौहरी के यहां पर करोड़ों रुपए की अघोषित संपत्ति का खुलासा हुआ है।

राजस्थान विश्वविद्यालय में बीते 20 दिन में 3 आत्महत्याएं हो चुकी हैं। इनमें से एक असिस्टेंट प्रोफेसर और एक छात्र के बाद बीती रात महारानी कॉलेज के हॉस्टल में रहने वाली छात्रा कोमल प्रजापत ने सुसाइड कर लिया।

राजधानी जयपुर में निजी बसों के खिलाफ यातायात पुलिस का विशेष अभियान शुरू हुआ है। इस अभियान के तहत पुलिस की कई टीमें प्रमुख चौराहों पर तैनात होंगी और जो भी ड्राइवर नियम फॉलो नहीं करेगा, उसे पकड लेंगी अौर कार्रवाई करेगी।

राजधानी जयपुर के आबादी इलाके में पैंथर दिखाई देने की अफवाह बुधवार की शाम सोशल मीडिया पर वायरल हुई। फॉरेस्ट डिपार्टमेंट ने जंगल के नजदीक बसी बस्तियों के लोगों को अलर्ट किया है।

जयपुर एयरपोर्ट पर बुधवार सुबह दुबई से जयपुर पहुंचे यात्रियों ने जमकर हंगामा किया। दरसल स्पाईस जेट की दुबई से जयपुर आने वाली फ्लाईट सुबह करीब नौ बजे जयपुर पहुंची। इस फ्लाईट से करीब 80 यात्री जयपुर आए थे।

अगर आपके पास सरकारी सेवाओं में सुधार के लिए आईटी से जुड़ा कोई आइडिया है तो सरकार एक करोड़ रुपए का वर्क आॅर्डर दे सकती है।

जयपुर को छोटी काशी के रूप में भी जाना जाता है। यहाँ इतने मंदिरों का निर्माण हुआ है कि जयपुर आज मंदिरों के शहर के रूप में भी जाना जाता है। आईये जानते हैं जयपुर शहर के कुछ शिव मंदिरों के बारे में…
जयपुर अपनी ऐतिहासिक वास्तुकला के लिए प्रसिद्ध है ।
नाहरगढ़ किले को जयपुर के राजा सवाई जय सिंह द्वारा बनाया गया था। इस किले का निर्माण कार्य 1734 में पूरा किया गया, हालांकि बाद में 1880 में महाराजा सवाई सिंह माधो द्वारा किले की विशाल दीवारों और बुर्जो का पुननिर्माण भी करवाया गया था।
आमेर का किला राजस्थान की राजधानी जयपुर शहर से 11 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। राजस्थान में आमेर का किला प्रमुख पर्यटन स्थलों में से एक है। आमेर किले का निमार्ण राजा मानसिंह प्रथम ने 1592 ई.वी. में करवाया था।
जयपुर के 289th वे स्थापना दिवस पर पढ़िए जयपुर शहर की कुछ कहानियाँ जो आपको बताएंगी कि ये शहर कैसे बढ़ा और कैसे अपना रूप बदलता गया |
यहां आज तक जयपुर के सभी महाराजाओं की सूची है।
जयपुर की राजमाता महारानी गायत्री देवी के बारे मे जानिए।
विद्याधर भट्टाचार्य एक बंगाली वास्तुकार थे उन्होंने विद्याधर गार्डन का निर्माण गलता के पास किया गया था।
जयपुर शहर उत्तरी भारत के सबसे सुंदर और मनमोहक शहरों में से एक है| जयपुर से जुडी कहानियों, इतिहास, तथ्यों, आंकड़ो और पर्यटको के बारे में जानिए|
सब जानते हैं कि दिवाली का त्योहार भगवान राम के 14 साल वनवास पूरा करके अयोध्या वापिस आने की ख़ुशी में मनाया जाता है। पर इस त्योहार को मनाने के पीछे और भी कारण है।
गुलाबी शहर जयपुर 1727 ईस्वी में महाराजा सवाई जय सिंह द्वितीय (आमेर के राजा) द्वारा स्थापित किया गया था| शहर का नाम उन्ही के नाम पर रखा गया है। उस वक्त महाराजा जय सिंह सिर्फ 11 साल के थे।
जयपुर शहर के लोग अपनी सांस्कृतिक विरासत के लिए प्रसिद्ध है । जयपुर के लोग कितनी भी कठिन परिस्थिति में भी शांत और हंसमुख रहते है।

पर्यटको के लिए जानकारी

पर्यटको के लिए जानकारी

जयपुर परिवहन के बारे में सारी जानकारी आपको यहाँ मिलेगी । जानिए कैसे जयपुर पहुंचना है, यहाँ कैसे घूमना है, जयपुर बस और जयपुर मेट्रो के रूट क्या हैं, और भी बहुत कुछ । यह जानकारी जयपुर में रहने वाले और यहाँ बहार से आने वाले दोनों के लिए ही सुविधाजनक है।