MENU X
जयपुर का सबसे पुराना घड़ी-टावर्स


जयपुर अपनी ऐतिहासिक वास्तुकला के लिए प्रसिद्ध है । जयपुर शहर के किले और महल बहुत ही लोकप्रिय है, ऐसे ही कुछ ऐतिहासिक स्थल यहां पर है लेकिन उनकी तरफ कई बार किसी का ध्यान ही नही जाता है । जयपुर की सबसे पुरानी घड़ी की हम बात कर रहे है जो जयपुर के बड़े टावरों में से एक मानी जाती है ।

कभी एक समय था जब किसी के पास भी घड़ी नही थी केवल इन टावर घड़ियों से ही लोगो को समय बताया जाता था । हालाँकि इन घड़ी टावरों की किसी की भी घड़ी काम नही कर रही है लेकिन वे अभी भी अपनी सुंदरता और वास्तु डिजाइन से लोगो को मोहित करती है । आप निचे दिखाए गए घड़ी टावरों के पास जाइये आप को उनकी सुंदरता को देख कर बहुत अच्छा लगेगा ।

घड़ी टावर बानी पार्क में राम मंदिर

जयपुर का राम मंदिर जो बानी पार्क में स्थित है। यह एक शहर के प्रसिद्ध पोद्दार परिवार द्वारा निर्मित किया गया था।

क्लॉक टॉवर, सेंट एंड्रयू चर्च

चांदपोल गेट के बाहर स्थित चर्च पर आप ऐतिहासिक सेंट एंड्रयू घड़ी देख सकते है । यह घड़ी चर्च टावर पर स्थापित है । महाराजा माधो सिह ने घड़ी टावर की स्थापना की थी यह स्कॉटलैंड में बनवाया गया था । यह सिर्फ 2000 रूपये में बनाया गया था ।

गांधी नगर में क्लॉक टॉवर

आप को गांधी नगर में भी एक घड़ी टावर को अच्छी तरह से देख सकते है ।  यह राजा रामदेव पोद्दार सीनियर सेकेंडरी स्कूल में स्थित है।

यादगार पर क्लॉक टॉवर

यादगार वो जगह है जहाँ पर अब यातायात नियंत्रण कक्ष और जयपुर के पुलिस नियंत्रण है । वहां पर भी एक प्रसिद्ध घड़ी टावर है। यह घड़ी टावर सन 1886 में भारत में एडवर्ड की भारत यात्रा के उपलक्ष्य में बनाया गया था । यह भी जयपुर शहर के प्रमुख ऐतिहासिक स्थलों में से एक है ।

 


You May Also Like

Pakistan delegations have denied coming to India for the Jaipur Sufi Festival, which is to be held at Hotel Diggi Palace, Jaipur from October 14-16, 2016.

Trekking amidst the hills of Uttarakhand: Ayushi Mishra, Jaipur girl climbs 18700 feet in 3 days

This 24th July, 2016, the fourth Sunday of July will be observed as Parents’ Day. As kids go and plan a quickie surprise to make your parents have a great Sunday today. Here are some ideas to help you.

The Income Tax Department organized a run by the name “Run For Nation Building” on Sunday, July 17, 2016.

Heavy rains lead to the death of 7 in the state of Rajasthan. Army had to be called to carry out rescue operations and to retrieve bodies.